शुक्रवार, 9 सितंबर 2011

क्या धमाके करने वाले किसी भी कोख से जन्म नहीं लेते !!??

कुछ धमाके होते हैं और 
उन धमाकों के साथ 
कुछ जिंदगियां तमाम....
उन धमाकों में है सन्देश 
किसी तरह की कायरता का 
एक अमानुषिक बर्बरता का 
जिसे धमाके करने वाले 
कहते हैं अपनी ताकत 
जिससे करते हैं वो 
सत्ता के खिलाफ जंग
जिसे कहते हैं वो 
कि यह ज़ुल्म के खिलाफ
जो भी हो मगर उनकी इस 
ताकत या कायरता का शिकार 
बनते हैं कुछ मासूम लोग 
बच्चे-बूढ़े और स्त्रियाँ भी 
जहां होते हैं धमाके 
वहां बिखर जाता है खून
बिछ जाती हैं लाशें और 
तड़पते हैं जीवित शरीर
जिसे देखकर हो जाता है 
हर कोई कातर-निर्विकल्प 
शून्य और संज्ञा रहित.....
और मर्मान्तक तक कहीं 
अतल गहरे में रोते हैं हम....
जिसे कहते हैं हम मानवता 
हम सब किसी ना किसी 
कोख से जन्म लेते हैं.....
क्या धमाके करने वाले 
किसी भी कोख से जन्म नहीं लेते !!??   

5 टिप्‍पणियां:

veerubhai ने कहा…

हम सब किसी ना किसी
कोख से जन्म लेते हैं.....
क्या धमाके करने वाले
किसी भी कोख से जन्म नहीं लेते !!??
कोख लजाऊ ,कोख के सौदागर हैं ये तमाम लोग .बहिश्त चाहिए इन्हें .इसी रास्ते ...

कविता रावत ने कहा…

जो भी हो मगर उनकी इस
ताकत या कायरता का शिकार
बनते हैं कुछ मासूम लोग
बच्चे-बूढ़े और स्त्रियाँ भी
जहां होते हैं धमाके
वहां बिखर जाता है खून
बिछ जाती हैं लाशें और
तड़पते हैं जीवित शरीर
जिसे देखकर हो जाता है
हर कोई कातर-निर्विकल्प
शून्य और संज्ञा रहित.....
..khoon ke pyase darinde kabhi kisi ki masumiyat dekhte hi nahi hai... n jaane kitne hi ghar pal bhar mein baarbad ho jaate hai...
...gahri vedna se upji samvedansheel prastuti hetu aabhar!!

NISHA MAHARANA ने कहा…

ma ke khokh ko ljanewale insan nhi haivan hote hain aise log.good n meaningful rchna.meri kavita uski yaden fir se padhiye us smay adhuri thi.thanks.

JHAROKHA ने कहा…

aadarniy mahendra ji
bahut -bahut hi savedan sheel v marm- sparshi post.
dil ko gahre choo jaati hai.
rajiv ji v aapko is prastuti ke liye
bahut bahut badhai
poonam

किसी का दर्द हमें तकलीफ देता है ने कहा…

bahut acchi rachna.

Jansunwai is a NGO indulged in social awareness going to publish a book with content from blog writers. ( for details pls check this link http://jan-sunwai.blogspot.com/2011/09/blog-post_17.html )

Our blog www. jan-sunwai.blogspot.com is a platform for writers as well as for the people looking for legal help.In appriciation of the quality of some of your content we would love to link your content to our blog under your name, so that you can get the credit for the content.

Kindly check http:// www. jan-sunwai.blogspot.com and the content shared by different people, pls reply if you are intersted in it through a comment on our blog or reply at jansunwai@in.com

Regards.